संयोग से बने कॉमेडियन राजेश कुमार

 2004 में प्रसारित हुए लोकप्रिय हास्य धारावाहिक “साराभाई वर्सेस साराभाई” को दर्शक आज भी बहुत पसंद करते हैं और साथ में पसंद करते हैं धारावाहिक के किरदार रोसेश और उसकी कविताओं को रोज सेठ को तो सभी दर्शक जानते हैं लेकिन क्या आप असली रोसेस से वाकिफ हैं अगर नहीं तो आइए जानते हैं दर्शकों को  जी भरकर हंसाने वाले रोसेश यानी अभिनेता राजेश कुमार के बारे में |

 20 जनवरी 1975 को पटना में जन्मे राजेश ने हिंदू कॉलेज दिल्ली यूनिवर्सिटी से अपनी पढ़ाई की इसके बाद वह मुंबई के सेंट जेवियर कॉलेज से मास कम्युनिकेशन करना चाहते थे इसी दौरान अपनी बहन की देखरेख के लिए उनका मुंबई आना हुआ और वह यहीं के होकर रह गए इसी बीच उन्होंने एक दोस्त के शो में एक छोटी सी भूमिका  अभिनीत की और इत्तेफाक से उनका यह पहला शो काफी सफल रहा

 शो में काम करने के लिए राजेश को ₹1000 मिले थे कह सकते हैं कि जाने-अनजाने में इस शो में काम करने के साथ ही उनकी अभिनय यात्रा शुरू हो गई थी हालांकि अब राजेश एक सक्षम अभिनेता के रूप में जाने जाते हैं लेकिन एक समय था कि एक लाइन बोलने में  उन्होंने 20 रिटेक लिए थे |

 अभिनय की शुरुआत

  राजेश ने अभिनय की शुरुआत 1999 में लोकप्रिय धारावाहिक “एक महल हो सपनों का” से की इसके बाद “देश में निकला होगा चांद” “कौन अपना कौन पराया” “कुसुम” “कृष्णा अर्जुन” और “शरारत” जैसे धारावाहिकों में उन्होंने काम किया फिर 2004 में उन्हें वह हास्य धारावाहिक मिला जिसने उनकी पूरी जिंदगी बदल दी उस धारावाहिक का नाम था “साराभाई  वर्सेज साराभाई”|

 इसमें अभिनय करके वह घर घर में रोसेश के नाम से पहचाने जाने लगे|

 अन्य धारावाहिक

 2005 में “बा बहू और बेटी” 2006 में “कुलवधू” 2007 में “दुर्गेश नंदिनी” “कॉमेडी सर्कस” 2008 “कॉमेडी सर्कस कांटे की टक्कर” 2009 में “भूतवाला सीरियल” 2012 में “अर्जुन हर युग में आएगा” “एक लाखों में” “एक भूत राजा और रानी” 2013 में “टाइम आउट विद  माम” 2014 में “प्रीतम प्यारे” और “तू मेरे अगल बगल है” “भूत राजा और रानी -2” 2016 में “बड़ी दूर से आए हैं” 2017 में “टीवी बीवी और मैं” “कॉमेडी दंगल” 2018 में “बेलन वाली बहू” 2019 में अपना न्यूज़ आएगा” 2020 में “महाराजा की जय हो” “कुछ स्माइल हो जाए विद आलिया” और “एक्सक्यूज मी मैडम” आदि|

 बड़े पर्दे पर भी किया काम

 2011 में राजेश ने बड़े पर्दे पर भी काम किया उनकी पहली फिल्म थी मैन विद विमेन शाहरुख खान के बैनर रेड चिलीज कि यह फिल्म बड़ा धमाल नहीं कर पाई इसके बाद उन्होंने 2014 में भी काम किया और शर्मन जोशी मुख्य भूमिका में थे

  कामयाबी से पहले संघर्ष

 हालांकि आज राजेश एक सफल अभिनेता हैं लेकिन एक समय था कि उनके पास काम नहीं था और वह बेरोजगार थे वह बताते हैं यह साल 2003-04  था मैंने कई शो के लिए ऑडिशन भी दिए लेकिन कहीं भी मेरा चुनाव नहीं हो रहा था इसी साल मैंने अभिनेत्री माधुरी कुमार से शादी भी कर ली महीने बाद मुझे साराभाई वर्सेस साराभाई मिला और इसने मेरी जिंदगी बदल दी|

 अपने देश के बारे में बात करते हुए वह कहते हैं यूं ही आसानी से नहीं मिला मुझे यह इसके लिए मैंने बहुत मेहनत की थी मैंने दक्षिण मुंबई की खाक छानी है और रेस्तरां में गया हूं तब जाकर मुझे यह मिला  

 रोसेश के लिए मैंने दोपहर 2:00 से रात के 10:00 बजे तक ऑडिशन दिया है एक कमरे में मैं कैमरा और बस मेरे निर्देशक थे 8 घंटे तक चले ऑडिशन के बाद मेरा चुनाव हुआ इसी तरह रोज सेठ की आवाज के लिए भी मैंने मेहनत की |

 इस धारावाहिक के बाद तो मेरी जिंदगी बहुत बदल गई इससे पहले तो मुझे लगता था कि मैं जिंदगी भर केवल भाई और चाचा का किरदार ही करता रह जाऊंगा

 राजेश से पूछने पर कि अपने किरदारों से इसके अलावा किसी दूसरे किरदार को अगर निभाने का मौका मिले तो किस किरदार को आप पर्दे पर अभिनीत करना पसंद करेंगे राजेश कहते हैं अगर ऐसा होता है कभी तो मैं  मोनिशा का किरदार अभिनीत करना चाहूंगा |

 अनेक लोकप्रिय किरदार अभिनीत कर चुके अब चाहते हैं कि वह एक कॉमेडी शो करें जिसमें दर्शकों को हँसाने के लिए सब कुछ हो और यह शो पहले प्रसारित हादसे से काफी अलग हो|

 अपने अभिनय से दर्शकों का मनोरंजन करने वाले राजेश ने बिहार में खेती भी की है इस बारे में उनका कहना है कि मेरे पास काम नहीं है बल्कि इसलिए क्योंकि मैं ऐसा करना चाहता था मैं कहता था कि अपने गांव का कुछ  स्तर सुधारू | – मीनाक्षी शर्मा

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *