सौम्या टंडन ने कहा कि उनका गोरापन ही बना उनका दुश्मन

सौम्या टंडन ने कहा कि उनका गोरापन ही बना  उनका दुश्मन

सम्मेलन में करीब 5 वर्ष तक धारावाहिक भाभी जी घर पर है में काम करने के बाद गत दिनों में इसे अलविदा कहा है अब वह कुछ हटकर रोल करने की चाहत रखती हैं छोटे पर्दे पर खूब नाम कमा चुकी सौम्या को सफलता के लिए संघर्ष भी करना पड़ा एक बार साक्षात्कार में सौम्या नहीं कहा था कि कैसे ज्यादा गोरी होने के कारण इसके हाथ से कई अंतरराष्ट्रीय से निकल गए

सोना के अनुसार उसके पास कहीं द स्टैचू तथा फिल्मों के प्रस्ताव आए जिनमें रोल भारतीय युवती का था और वैष्णो बाती ऑडिशंस के बाद भी ली गई थी परंतु जब फिल्मों में काम देने की बात आई तो उसे मना कर दिया गया

उससे कहा गया कि उन्हें थोड़ी सांवली लड़की चाहिए आप बहुत बुरी हैं फिल्म लोग वालों को विश्वास ही नहीं हो रहा था कि कोई भारतीय लड़की इतनी गोरी भी हो सकती है दरअसल उनकी सोच थी कि अमेरिका और ब्रिटेन जैसे पश्चिम देशों की लड़कियां की गोरी होती हैं

समय के अनुसार “उन्होंने मुझे साफ मना कर दिया कि हम किसी सांवली लड़की को इस शो के लिए नहीं लेंगे, अक्सर वे किसी सांवली लड़की को ही लेते हैं”|

सौम्या टंडन का अब तक का कैरियर

1984 में भोपाल में जन्मी सौम्या की पढ़ाई जैन से हुई क्योंकि उसके पिता वहां यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर थे ने अभिनय की शुरुआत वर्ष 2006 से ही की थी

सोनिया ने धारावाहिक ‘ऐसा देश है मेरा’ से डेब्यू किया उसके बाद उसने ‘मेरी आवाज को मिल गई रोशनी’ में काम किया वह कहीं टीवी शो को भी हॉर्स कर चुकी हैं जैसे की ‘मल्लिका-ए-किचन’ ‘कॉमेडी सर्कस के तानसेन’ और ‘डांस इंडिया डांस’ लेकिन सौम्या को उसकी पहचान ‘भाभी जी घर पर है’ ऐसे ही मिली I

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *